खबर

दिल्ली सरकार ने फिर ठुकराई Uber की टैक्सी लाइसेंस की अपील

Uber को दिल्ली में अपनी सेवाओं को चालू रकने हेतु, जिस टैक्सी लाइसेंस लेने की आवश्यकता थी, उससे दिल्ली सरकार ने फिर से ठुकरा दिया है। कहा जा रहा है की ने सभी नियमों का पूरी तरह से पालन नहीं किया था, जिसके कारन उसकी अपील को दोबारा ठुकरा दिया गया है।

Uber की परेशानियों का एक बड़ा कारण यह भी है, कि यह दूसरी बार है, जब उसकी टैक्सी लाइसेंस की याचिका को दिल्ली सरकार इन ख़ारिज कर दिया है। इससे पहले, तकरीबन जून मैं भी Uber की टैक्सी लाइसेंस की याचिका को इसी तरह से खारिज कर दिया गया था।

जून मैं ख़ारिज याचिका के दौरान, दिल्ली सरकार ने Uber के आग्रह पर, उसे ५ दिन का एक एक्सटेंशन समय भी दिया था, जिसके बावजूद Uber ने सही तरीके से याचिका नहीं फाइल करी। इसके चलते, दिल्ली सरकार ने याचिका ख़ारिज कर दी थी।

हालांकि दिल्ली सरकार ने तो Uber को गैरकानूनी स्थापित कर दिया था, मगर Uber की टैक्सियां फिर भी दिल्ली की सड़कों पर दौड़ रही थी। इसके चलते आम जनता को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा था। क्यूंकि Uber ने अपनी एप्प, दिल्ली सरकार के निर्देश के बावजूद बंद नहीं करी थी, आम जनता इस झांसे मैं आ गयी थी की की सेवाएं अब भी चालू है।

दिल्ली सरकार की मुहीम के तहत, Uber एक लौटी ऐसी टैक्सी कंपनी नहीं है जिसकी टैक्सी अपील ख़ारिज कर दी गयी है। इसी तरह से Ola की भी टैक्सी लाइसेंस की अपील ख़ारिज की जा चुकी है। हालाँकि Ola ने उसके बाद अपनी सभी दिल्ली मैं चलने वाली टैक्सियों को सी.ऍन.जी. से चालित कर दिया है. अब, यात्रियों को दिल्ली मैं सफर करने के लिए Ola की सी.ऍन.जी. टैक्सी, व दिल्ली से बहार सफर करने के लिए आम टैक्सी का उपयोग करना होगा।

दिल्ली सरकार द्वारा उसके टैक्सी लाइसेंस की अपील ख़ारिज होने की खबर पर Uber ने The Tech Portal को एक ई-मेल के ज़रिए कहा,

हमें दिल्ली सकरकर से अपील खारिज होने का कोई आधिकारिक सन्देश नहीं मिला है। Uber दिल्ली समुदाय की सेवा के लिए प्रतिबद्ध है और हम दिल्ली सरकार की किसी भी चिंताओं को दूर करने के लिए दिल्ली के अधिकारियों के साथ मिलकर काम करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन