खबर डिजिटल इंडिया स्मार्टफोन्स

चीन के Apus ने भारत में संयुक्त उद्यम की संभावनाओं के लिये InMobi से मिलाया हाथ

चीन की ऐप बनाने वाली कंपनी Apus ने भारतीय मोबाइल प्रचार कंपनी InMobi से भारतीय बाज़ार में उतरने के लिये साझा किया, जहां सेमार्टफ़ोन इस्तेमाल करने वालों की संख्या विश्व मैं दूसरी सबसे तेज़ी से बढ़ती संख्या है ।

साझे के तहत InMobi को Apus के 25 मिलियन भारतीय उपभोगताओं के साथ अगले दो सालों तक प्रचार करने मिलेगा। कंपनी पहली ऐसी विदेशी कंपनी भी बन जाएगी जिसके साथ Apus ने साझा किया हो।

InMobi के सी.ई.ओ., नीरज तिवारी, जो इस साझे से बहुत खुश हैं, ने ET को बताया:

हम भारत में प्रोडक्ट, बाज़ार में अभिगमन को लेकर बहुत ही गहरी कूटनीतिक साझेदारी कर रहे हैं, जिससे उन्हें लोगों को रखने व ब्रांड बनाने में सहायता मिले। यह Apus Global और InMobi के बीच एक संयुक्त उद्यम भी बन सकता है।

वो आगे कहते हैं:

हमें लगता है कि इसमें अनेक संभावनाएं है। इस साझे का दूसरा भाग है कि हम भारत के बाहर भी की मुद्रिकरण में सहायता करेंगे।

Apus नें वर्ष के अंत तक 300 मिलियन उपभोगता बनाने का लक्ष्य साधा है और 2016 के अंत तक 500 मिलियन उपभोगताओ का। इनमें से 80 मिलियन भारत से आने की संभावना है। इस लक्ष्य के लिये ही इन्होंने $116 मिलियन के निवेश एकत्रित किये हैं, जिनमें से $15 मिलियन भारत में इनके कार्य की ओर जाएंगे।

Apus के संस्थापक और सी.ई.ओ. ताओ ली के अनुसार:

इस सहयोग मे हम स्थानीय ब्रांड बनाना, उपभोगता आधारित बढ़ंत, मुद्रिकरण व जरूरी प्रोडक्ट तकनीक पर काम करेंगे। दोनों ही कंपनियां अच्छी साझेदारी की खोज में हैं।

उन्होंने InMobi के संयुक्त उद्यम बनाने के संकेतों पर और ज़ोर डाला।

जहां InMobi के लिये ऐसी साझेदारी कोई नयी बात नहीं है, उन्होंने Dell Inc व PayTM के साथ ऐसी डीलें कर चुकी हैं, Apus भारतीय बाज़ार में निवेश करने वाले नये चीनी उद्यमों की फ़ेहरिस्त में आ गया है।

भारत और चीन की तकनीकी कंपनियो के बीच की साझेदारी के बढ़ते चलन को देख कर InMobi के सी.ई.ओ. नीरज तिवारी ने कहा:

दुनिया के तीन सबसे बड़े तकनीकी बाज़ारों अमेरिका, भारत व चीन मैं है ,लेकिन आने वाले समय मैं भारत व चीन की साझेदारी मैं आपको ज़्यादा बढ़त देखने को मिलेगी ।

छवि के प्रकाशक : KCENTV China

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन