एप्पल डिजिटल इंडिया स्मार्टफोन्स

मार्क ज़ुकेरबर्ग के बाद अब पी.एम. मोदी मिलेंगे एप्पल सी.ई.ओ. टीम कुक से, कर सकते हैं ‘मेक इन इण्डिया’, पर चर्चा

जहां प्रधानमंत्री पहले ही मार्क ज़करबर्ग व Adobe के सी. ई. ओ. जैसे प्रद्योगिकी जगत के दिगजों से मिलने वाले थे, वहीं अब उनकी सूचि में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी के सी. ई. ओ. टिम कुक भी शामिल हो चुके हैं।

मोदी, जैसा कि सबको पता है, महीने के अंत में सिलिकॉन वैली जा रहे हैं, जो पिछले तीस वर्षों में किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री की यहां पहली यात्रा है। साथ ही, पहली बार कोई प्रधानमंत्री यहां पहली बार भारत को उत्पादन स्थान व इनोवाशन केंद्र के रूप में प्रचारित करेंगे।

मुद्दे से जुड़े सूत्रों ने ET को बताया है कि Apple Inc और प्रधानमंत्री का कार्यालय मीटिंग के अजेंडा को लेकर बात करेंगे। पर अभी तक अजेंडा में क्या है इसका खुलासा नहीं किया गया है।

जहां तक है, प्रधानमंत्री, जैसे कि उनके 90% दौरों का उद्देश्य रहता है, टिम कुक के सामने अपने ‘Make In India” और “Digital India” कैंपेनों को सामने रख कर उन्हें भारत की रीसर्च व डेवेलपमेंट (R&D) में निवेश करने के लिये राज़ी करेंगे।

वहीं टिम कुक मोदी से कुछ भारतीय नियमों मैं में ढील देने की बात करेंगे। मुख्यत: लोकल सोर्सिंग नॉर्म को हटाने की बीत कहेंगे, जिससे वह Apple के अपने स्टोर खोल सकें, जो अभी लोकल रीटेलर के बिना संभव नहीं है। साथ ही वह मोदी से एक्स्पोर्ट ड्यूटी दरों में कमी करने की बात भी कहेंगे, जिसके कारण iPhone का दाम बहुत बढ़ जाता है।

ET को एक सूत्र नें बताया:

Apple नें भी इस मीटिंग में दिलचस्पी दिखाई है, क्योंकि वह भी भारत के R&D क्षेत्र से जुड़ना चाहते हैं। साथ ही वह रीटेल में विदेशी निवेश के नियमों को समझना चाहते हैं जिससे वह भविष्य में कंपनी के नाम के स्टोर खोल सकें।

टिम कुक इसी लिये इस बहरीन टेक लाइन-अप का हिस्सा बनेंगे जो पहली बार किसी भी विदेशी नेता के लिये बनी है। इसमें मार्क ज़करबर्ग व ईलॉन मस्क जैसों का नाम पहले से और, और भी नाम जुड़नें की संभावना है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन