Digital India News Start-Ups

Paytm ने डिजिटल भुगतान सेवा के लिए आधार कार्ड आधारित ‘eKYC सत्यापन’ सुविधा का किया आगाज़

उपयोगकर्ता सत्यापन हमेशा से ही एक लंबी, थकाऊ और समय लेने वाली प्रक्रिया रही है| लेकिन अब Paytm का संचालन करने वालीं ‘One97 कम्युनिकेशन’ ने eKYC सत्यापन प्रक्रिया का आरम्भ किया है, इसमें उपयोगकर्ता आधार कार्ड का उपयोग करके भुगतान प्रक्रिया को आसान बना सकेंगें|

Paytm की भुगतान सेवा का उपयोग करने वाले उपयोगकर्ता अब आधार कार्ड (या यूआईडी) की मदद से अपने खाते को सत्यापित कर सकते हैं| सरकार के नियमों के अनुसार भी, इस तरह के बैंकों और डिजिटल बटुआ प्रदाताओं के उपयोगकर्ताओं की पहचान और उनका सत्यापन आवश्यक होता है|

केवाईसी प्रक्रिया एक उपयोगकर्ता की पहचान के सत्यापन, नियामक पहचान की चोरी, वित्तीय धोखाधड़ी, काले धन को वैध और आतंकवादी वित्तपोषण को रोकने के लिए महत्वपूर्ण है| इससे पहले की प्रक्रिया में उपयोगकर्ताओं को उनकी पहचान और उनके पते के प्रमाण की प्रतियां प्रस्तुत करने जैसे नियमों की वजह से कई दिन लग जाते थे|

कंपनी के अनुसार, यह eKYC प्रक्रिया पूरी तरह से कागज रहित और सुरक्षित है| ग्राहक की पहचान एक बायोमेट्रिक स्कैन अंगुली की छाप या आधार कार्ड डेटाबेस से तुरन्त सत्यापित हो जाएगी|

पेटीएम संस्थापक विजय शेखर शर्मा भारतीय रिजर्व बैंक से भुगतान बैंक लाइसेंस प्राप्त करने में सफल रहें है| कंपनी अब अक्टूबर या नवंबर में भुगतान बैंक सेवा शुरू करने के लिए कमर कस रही है|

बयान में Paytm के संस्थापक और सीईओ विजय शेखर शर्मा ने कहा,

हम एक अरब भारतीयों को मुख्यधारा की अर्थव्यवस्था में लाने के भारत का सबसे बड़ा eKYC ग्राहक नेटवर्क बना रहे हैं| हम लक्ष्य देश की सबसे बड़ी आधार आधारित eKYC कंपनी बनाना है|

Paytm वर्तमान में भारत में सबसे बड़ी डिजिटल बटुआ सेवा प्रदाता में से एक है और 135 मिलियन उपयोगकर्ताओं के होने का दावा करती है| कंपनी ने अपने ऑनलाइन खुदरा व्यापार Paytm ई-कॉमर्स प्राइवेट लिए एक नई इकाई भी दर्ज की है|

कंपनी ने हाल ही में नए निवेशक Taiwanese chipmaker MediaTek  से अनुदान के रूप में $60 मिलियन हासिल कर लिया है। इस के अलावा भी पिछले समर्थकों, अलीबाबा और सैफ पार्टनर्स से $240 मिलियन का निवेश जुटाया गया है। शर्मा, धन की इस बाढ़ का उपयोग अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विस्तार करने की योजना के लिए कर रहें हैं|

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन